प्रधानमंत्री की इस योजना का आप भी उठा सकते हैं फायदा, 64 लाख लोगों को मिलेंगे 36 हजार रुपए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए तीन पेंशन योजनाओं की शुरुआत की है। इन योजनाओं में अब तक कुल 64, 42,550 लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवा लिया है। इन योजनाओं के तहत सालाना 36 हजार रुपए की पेंशन मिलेगी। पीएम श्रमयोगी मानधन योजना, पीएम किसान मानधन योजना और लघु व्यापारी पेंशन योजना का लाभ काफी लोगों को मिल सकता है। इन तीनों योजनाओं का लाभ लेने के लिए शर्तें एक जैसी ही हैं। जानें इनके बारे में।




पीएम श्रमयोगी मानधन योजना


इस योजना की औपचारिक शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 मार्च, 2019 को गुजरात के गांधीनगर में की थी। इसके लिए रजिस्ट्रेशन 15 फरवरी से ही शुरु हो गया था। दिहाड़ी मजदूरों और असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों को हर महीने पेंशन देने की यह सबसे बड़ी योजना है। इस योजना के तहत 60 साल की उम्र पूरी होने के बाद मजदूरों को हर सालाना 36 हजार रुपए पेंशन के रूप में मिलेंगे।

किसे नहीं मिल सकता इसका फायदा


संगठित क्षेत्र में काम करने वाले, कर्मचारी भविष्य निधि, नेशनल पेंशन स्कीम, राज्य कर्मचारी बीमा निगम के मेंबर और इनकम टैक्स का भुगतान करने वाले लोग इस योजना का लाभ नहीं ले सकते। इस योजना का लाभ उन्हें ही मिल सकता है, जिनकी मासिक आमदनी 15 हजार रुपए से कम है। अब तक 43, 84,595 लोग इस योजना का लाभ लेने के लिए रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं।

पीएम किसान मानधन योजना


इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 सितंबर, 2019 को झारखंड से की थी। इसके तहत 9 अगस्त से ही रजिस्ट्रेशन होना शुरू हो गया था। प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना किसानों के लिए सबसे बड़ी पेंशन स्कीम है। इससे अब तक 20,19,220 किसान जुड़ चुके हैं। उन्हें 60 साल की उम्र पूरी करने पर 3000 रुपए महीने पेंशन मिलेगी। इसका फायदा सभी 12 करोड़ लघु एवं सीमांत किसान ले सकते हैं।


रजिस्ट्रेशन के लिए फीस


पीएम किसान मानधन योजना में रजिस्ट्रेशन के लिए कोई फीस नहीं लगेगी। यदि कोई किसान पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ ले रहा है, तो उससे इसके लिए कोई दस्तावेज नहीं लिया जाएगा। इस योजना के तहत किसान पीएम-किसान स्कीम से मिलने वाले लाभ में सीधे अंशदान करने का विकल्‍प चुन सकते हैं। इस तरह उन्हें अपनी जेब से पैसा नहीं खर्च करना पड़ेगा।

प्रधानमंत्री लघु व्यापारिक मानधन योजना


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड के रांची में 12 सितंबर, 2019 को छोटे कारोबारियों के लिए पेंशन की यह योजना शुरू की। प्रधानमंत्री लघु व्यापारिक मानधन योजना के तहत छोटे कारोबारियों को सामाजिक सुरक्षा देने की पहल की गई। इस योजना में उन्हें 60 साल की उम्र के बाद सालाना 36,000 रुपये पेंशन मिलेगी। यह योजना 1.5 करोड़ रुपए सालाना से कम कारोबार करने वाले सभी दुकानदारों के लिए है। ईपीएफओ, ईएसआईसी के सदस्य और आयकरदाता को इसका लाभ नहीं मिलेगा। अब तक इसमें 38,735 छोटे कारोबारियों ने रजिस्ट्रेशन करवाया है।

पेंशन स्कीम की शर्तें


तीनों योजनाओं में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए उम्र 18 साल से 40 साल के बीच होनी चाहिए। ईपीएफओ, ईएसआईसी के सदस्य और आयकरदाता को इसका लाभ नहीं मिलेगा।  रजिस्ट्रेशन के लिए आधार कार्ड, मोबाइल नंबर और बैंक अकाउंट नंबर जरूरी है।) उम्र के हिसाब से प्रीमियम 55 से 200 रुपए तक होगा। इतना ही पैसा सरकार भी देगी। 60 साल की उम्र के बाद 3000 रुपए महीना पेंशन मिलेगी। नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर में इसके लिए रजिस्ट्रेशन करवाया जा सकता है।

Post a comment

0 Comments