Join our WhatsApp Group Join Here

Budget 2021: नए प्रोजेक्ट्स की घोषणाओं से युवाओं को मिलेंगी लाखों नौकरियां

Budget 2021: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में बजट पेश किया। कोरोना संकट के हालात में बजट तैयार किए जाने की बात करते हुए उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे। आत्म निर्भर पैकेज से देश में काफी सुधार हुआ है। यह बजट आपदा में अवसर साबित होगा। वित्त मंत्री ने आगे कहा कि देश का आर्थिक पैकेज जीडीपी का 13 फीसद है। पीएम गरीब कल्याण योजना, तीन आत्मनिर्भर भारत पैकेज और उसके बाद कई घोषणाएं अपने आप में पांच मिनी बजट की तरह थीं।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए कहा कि साल 2022 तक मछली उत्पादन का लक्ष्य दो लाख टन है, जिसमें तटीय इलाकों के युवाओं को रोजगार मिलेगा। नई एजुकेशन पॉलिसी, स्वरोजगार योजना, आत्मनिर्भर भारत और ऐसे अन्य योजनाओं को लेकर सरकार ने क्या कदम उठाए हैं, इन पर भी ध्यान देना जरुरी है।

Read More: जानिए बजट में हेल्थ सेक्टर को क्या-क्या मिला

स्वामित्व योजना अब देशभर में लागू की जाएगी। पांच फिशिंग हार्बर को आर्थिक गतिविधि के हब के रूप में बनाया जाएगा। तमिलनाडु में फिश लैंडिंग सेंटर को भी डेवलप किया जाएगा। श्रमिकों और कामगारों के लिए जल्द ही एक पोर्टेल लांच किया जाएगा, जिसमें माइग्रेंट वर्कर की डिटेल्स उपलब्ध होगी। कामकाजी महिलाएं भी अब सभी शिफ्ट में काम कर सकेंगी। नाइट शिफ्ट में काम कर रही महिलाओं के लिए पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था भी की जाएगी। एमएसएमई सेक्टर के लिए राहत भरी खबर है। एमएसएमई के लिए बजट राशि में वृद्धि की गई है।

Read More: कस्टम ड्यूटी में कटौती के ऐलान से सोना 1500 रुपए सस्ता, जानिए कितने हुए दाम

एमएसएमई में बजट 2020 की घोषणाएं और लाभ
निर्मला सीतारमण ने 2020 के बजट में घोषणा की थी कि इंडस्ट्री, कॉमर्स के विस्तार के लिए 27300 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। इससे इस सेक्टर को नई ताकत मिली। वहीं एमएसएमई को देरी से होने वाले पेमेंट रोकने के लिए ऐप बेस्ड इनवॉयस बनाने की बात हुई। सरकार एक 'निर्विक' ( निर्यात ऋण विकास योजना) योजना ले आई। इसके तहत निवेशकों को लोन देने की बात कही गई। साथ ही इस योजना में 90 फीसदी तक इंश्योरेंस दिया गया। घोषणा की गई कि लघु और मझोले उद्योगों (एमएसएमई) को आसान ऋण उपलब्ध कराने के लिए गैर-बैंकिग वित्तीय कंपनी कानून में जरूरी संशोधन किया जाएगा, रिजर्व बैंक से एमएसएमई ऋण पुनर्गठन समयसीमा बढ़ाने का आग्रह किया गया।

Read More: सस्ते होंगे सोना-चांदी, वित्त मंत्री ने दिए कस्टम ड्यूटी कम करने के संकेत

बजट 2021 की बड़ी घोषणाएं, जहां मिलेंगे लाखों रोजगार

  • PM आत्मनिर्भर स्वास्थ्य सेवा शुरू होगी
  • 13 सेक्टर के लिए PLI स्किम जल्द
  • किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य
  • कोरोना काल में सरकार लाई 27.1 लाख करोड़ का आत्मनिर्भर भारत पैकेज
  • आत्मनिर्भर भारत में खास तीन योजनाएं
  • बजट में आत्मनिर्भर भारत का विजन
  • लोन के 1.5 लाख रुपए तक की राशि पर ब्याज पर छूट की स्कीम एक साल बढ़ाई गईः वित्त मंत्री
  • तमिलनाडु में नेशनल हाइवे प्रोजेक्ट (1.03 लाख करोड़) का ऐलान
  • इसी में इकॉनोमिक कॉरिडोर बनाए जाएंगे
  • केरल में 1100 किलोमीटर लंबी नेशनल हाईवे बनाए जाएंगे। इस पर 65 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।
  • मुंबई-कन्याकुमारी इकॉनोमिक कॉरोडिर का ऐलान
  • पश्चिम बंगाल में भी कोलकाता-सिलीगुड़ी के लिए भी नेशनल हाइवे प्रोजेक्ट का ऐलान
  • असम में अगले तीन साल में हाइवे और इकॉनोमिक कॉरिडोर का ऐलान
  • तमिलनाडु, असम, पश्चिम बंगाल को मिला राजमार्गों का तोहफा
  • रेलवे डेडिकेटेड फ्रंट कॉरिडोर, NHAI के टोल रोड, एयरपोर्ट जैसे संसाधनों को असेट मोनेटाइजेशन मैनेजमेंट के दायरे में लाया जाएगा
  • देश में 7 टेक्स्टाइल पार्क बनाए जाने का ऐलान

Read More: खुशखबरी! मिनिमम वेज कोड से सभी कैटेगरी के श्रमिकों को हर महीने मिल सकेगी तय रकम

कोरोना महामारी के वक्त में देश को जिस क्षेत्र में ज्यादा नुकसान हुआ, उसका ख़ास ख्याल रखा गया है। इस बजट से जॉब सेक्टर और युवाओं के लिए क्या है, इस पर सबसे ज्यादा लोगों नजरे हैं। कोरोना और लॉकडाउन के चलते लोगों को नौकरियां गंवानी पड़ी, वहीं उस परिस्थिति में नई नौकरियों का सृजन भी नहीं हुआ।

कोरोना महामारी के चलते शिक्षा और रोजगार के क्षेत्र काफी प्रभावित हुए हैं। सरकार की ओर से V शेप रिकवरी की बात कही गई, जिसमें देश के हर सेक्टर को लाभ पहुंचाने का दावा किया गया है। बजट से पहले वित्त मंत्रालय की ओर से कहा गया कि ‘वी शेप रिकवरी’ के बाद भविष्य में नौकरी के मौके बढ़ेंगे।

Read More: 100 नए सैनिक स्कूलों को मंजूरी, हायर एजुकेशन का होगा गठन

Budget 2021 For Youth -आत्मनिर्भर पैकेज
आत्मनिर्भर भारत को लेकर सरकार ने काफी अहम कदम उठाए हैं। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीब तबके कोई काफी मदद पहुंचाई गई है। आत्मनिर्भर पैकेज में सुधार के नियम बने हैं. RBI ने कोरोना काल में 27 लाख करोड़ के पैकेज की घोषणा की थी।

टेक्सटाइल में निवेश से बढ़ेगी नौकरी
टेक्सटाइल की क्षेत्र में निवेश के बाद युवाओं को नौकरी मिलेगी। देश में कपड़ा उद्योग को बढ़ावा दिया जाएगा। इस साल एक्सपोर्ट पर ज्यादा ध्यान दिया जाएगा। 7400 प्रोजेक्ट्स शुरू किए जाएंगे। मेडिकल के क्षेत्र में नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं की भारी संख्या में भर्तियां होंगी।

पब्लिक सेक्टर प्रोजेक्ट में नौकरी
निर्मला सीतारमण ने बताया कि देश के विभिन्न राज्यों में चल रहे पब्लिक प्रोजेक्ट्स में युवाओं को नौकरियां दी जाएगी। इसमें बंगाल में चल रहे राष्ट्रिय राजमार्ग परियोजना में भर्तियां की जाएंगी। शिपगार्ड में युवाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी और चेन्नई में मेट्रो परियोजना को बढ़ावा देने का काम किया जा रहा है।

Post a comment

0 Comments